देश में कोरोना महामारी को देखते हुए बालाजी धाम मंदिर का डिजिटलीकरण करने में मंदिर समिति का सहयोग करें। बहुत कम घर से निकलें और वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन दर्शन और प्रसाद व दान का लाभ उठाएं !

We are बालाजी गुरु पूर्णिमा पूजा व् गुरु सेवा दान

24/06/2021 गुरु पूर्णिमा का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है. हिंदुओं में गुरुओं को सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त है. यहां तक कि गुरुओं को भगवान से भी ऊपर का दर्जा प्राप्त हैं क्योंकि गुरु ही हमें अज्ञानता के अंधेरे से सही मार्ग की ओर ले जाता है. इस वजह से देशभर में गुरु पूर्णिमा का पर्व बेहद धूमधाम से मनाया जाता है.हालांकि, इस साल कोरोनावायरस के कारण शायद लोगों को अपने घरों में रहकर ही गुरु पूर्णिमा मनानी पड़े तथा घर से ही ऑनलाइन पूजा व दान करना पड़े !

important

Sawamani Prasad Donate

5100

गुरु पूर्णिमा के दिन गुरुओं की पूजा करने का विशेष महत्व है.गुरु के बिना किसी भी व्यक्ति को ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती ! गुरु पूर्णिमा के मौके पर अपने गुरु की विशेष रूप से पूजा-अर्चना करें

Popular

Brahman Seva Donation

1100

मनुष्य को अपने द्वारा न्यायपूर्वक अर्जित किए हुए धन का दसवां भाग, ईश्वर की प्रसन्नता के लिए और ब्राह्मण सेवा दान जैसे सत्कर्मो में लगाना चाहिए। ऐसा करने से धन में वृद्धि होती है

Daily

Donate Laddu Prasad

551

गुरु पूर्णिमा पर श्री बालाजी को लड्डू का भोग बहुत पसंद है क्योकि हनुमान जी को गुड़ से बने लड्डू या रोठ बहुत भाता है। ऐसा करने से आपके सभी प्रकार के संकट और बाधाएं दूर होती हैं !

गुरु पूर्णिमा का महत्‍व

रिलिजन डेस्क

गुरु ब्रह्मा, विष्णु और महेश हैं। गुरु परम ब्रह्म के समान हैं, ऐसे गुरु को मेरा नमस्कार। हिंदू धर्म में गुरु के महत्व को समझाया गया। समाज में गुरु का स्थान सर्वोपरि है। गुरु प्रकाशमान चन्द्रमा के समान हैं, जो अँधेरे में प्रकाश देकर मार्गदर्शन करते हैं। गुरु जैसा कोई नहीं, क्योंकि गुरु ही ईश्वर को मार्ग दिखाता है। यदि कोई व्यक्ति इतना महान है तो उसके लिए भी एक दिन है, वह दिन ‘गुरु पूर्णिमा’ है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार आषाढ़ पूर्णिमा के दिन गुरु पूर्णिमा मनाई जाती है। गुरु पूर्णिमा गुरु की पूजा का दिन है। गुरु पूर्णिमा मनाने का कारण यह है कि इसी दिन महर्षि वेद व्यास का जन्म हुआ था।

गुरु पूर्णिमा पूजा के लाभ

धार्मिक ग्रंथों में लिखा है कि जिस प्रकार मनुष्य अपनी मनोकामना की प्राप्ति के लिए भगवान की पूजा करता है। उसी तरह जीवन में सफल होने के लिए गुरु की सेवा और भक्ति करनी चाहिए। साथ ही गुरु को पाने का प्रयास करना चाहिए। गुरु शिष्य के जीवन में व्याप्त अंधकार को मिटाकर प्रकाश का प्रसार करता है। इसलिए गुरु पूर्णिमा का विशेष महत्व है।

सभी प्रकार के संकट होते है दूर

इस दिन अपने-अपने गुरुओं की पूजा करने और उन्हें गुरु दक्षिणा देने का विधान है, क्योंकि गुरु के बिना ईश्वर भी अधूरा है। इस दिन गुरुओं की विशेष मंत्र से पूजा करनी चाहिए, क्योंकि इससे ज्ञान, धन और मान सम्मान की प्राप्ति होती है। तथा सभी प्रकार के संकट दूर होते है

समझें दान का महत्व—

दान एक ऐसा कार्य है, जिसके जरिए हम न केवल धर्म का ठीक-ठीक पालन कर पाते हैं बल्कि अपने जीवन की तमाम समस्याओं से भी निकल सकते हैं. आयु, रक्षा और सेहत के लिए तो दान को अचूक माना जाता है. जीवन की तमाम समस्याओं से निजात पाने के लिए भी दान का विशेष महत्व है. दान करने से ग्रहों की पीड़ा से भी मुक्ति पाना आसान हो जाता है.

1

जब ज्योतिषियों द्वारा किसी व्यक्ति विशेष की जन्म पत्रिका का आंकलन करने के बाद, जीवन में सुख, समृद्धि एवं अन्य इच्छाओं की पूर्ति हेतु दान कर्म करने की सलाह दी जाती है। दान किसी वस्तु का, भोजन का, और यहां तक कि महंगे आभूषणों का भी किया जाता है !

2

जो व्यक्ति प्रतिदिन विधिपूर्वक मंदिर में दान करता है वह संसार के समस्त फल प्राप्त कर लेता है। अपनी सामर्थ्य एवं सुविधा के अनुसार कुछ न कुछ दान अवश्य करना चाहिए। इससे परम कल्याण की प्राप्ति होती है !

3

दान से यश, अहिंसा से आरोग्य तथा ब्राह्मणों की सेवा से राज्य तथा अतिशय ब्रह्मत्व की प्राप्ति होती है !

4

दान की महिमा का अन्त नहीं संसार से कर्ण जैसा उदाहरण दानी के रूप में कोई नहीं। दान के विषय में चर्चा करने से पूर्व एक बात स्पष्ट करना चाहते है। कमाएं नीति से, खर्च करें रीति से, दान करें प्रीति से !

Balaji Dham Website Reach

Balaji Dham is a unique platform that allows people to make offerings or offer a chola at the Sri Mehndipur court sitting at home. If the donor is sitting at home and wants to donate flag coconut, laddus bhog, Sawamani, or food for monkeys, etc. in Balaji Darwar, then he can easily do it through this website !

24

States

9,00,000+

Devotee

80,000+
Social share

9 Lakh +
Balaji Bhakt

100+
Temple connected

10+
Country

आज सावन मास का प्रथम मंगलवार है ! सावन में शिव को प्रसन्न करने के लिए साथ में करें हनुमान पूजा

सावन के महीने में हनुमान जी की पूजा करने से हर कष्ट दूर हो जाते है.हनुमान जी एकादश रुद्र अवतार हैं, वे भगवान शंकर के ग्यारहवें अवतार है अगर बजरंग बली को प्रसन्न करना है और साथ ही शिव जी का आशीर्वाद पाना है तो श्रावण महीने में हनुमान जी का पूजन जरूर करना चाहिए !